Fashion Story

Motivational Story In Hindi – हमारे माता-पिता हमे आगे बढ़ने से रोक रहे है-

माता-पिता
माता-पिता
Blue Bottle Godard flexitarian, Williamsburg cronut butcher fanny pack lumbersexual ennui. Wolf Bushwick farm-to-table, kale chips Intelligentsia blog hoodie Pinterest disrupt 3 wolf moon flannel meh tattooed banh mi.

Motivational Story In Hindi

क्या हमारे माता-पिता हमे आगे बढ़ने से रोक रहे है- क्या यहाँ सत्य है Motivational Story In Hindi: दोस्तो हमारे माता पिता हमें हमारे बहुत से कम में रोक टोक करते रहते है।ये मत करो, वो मत करो, यहा मत जाओ, वहा मत जाओ, एशा मत करो वैसा मत करो और भी बोहोत चीज़ों में हमे बोलते रहते है। वे हमें अक्सर किसी न किसी काम मे रोक टोक करते रहते है। तो दोस्तो क्या आपको नही लगता कि ऐसा करके हमारे माता पिता हमे आगे बढ़ने से रोक रहे है??
चलिये हम इश्का फैसला बाद में करेंगे।उसके पहले में आपको एक छोटी सी कहानी सुनाता हूँ।

एक बार की बात है एक पिता अपने सात साल के बेटे के साथ पतंग उड़ा रहे थे। पतंग काफी उचाई छू रही थी। वो लगभग बदलो को छूती हुई हवा के साथ लहरा रही थी। कुछ समय बाद बेटा पिता से बोला “पापा हमारी पतंग धागे की वजह से ऊपर नही जा रही हमे इस धागे को तोड़ देना चाहिए। इसके टूटते ही हमारी पतंग ऊपर चली जाएगी।

पिता ने तुरन्त ऐसा ही किया। उन्होंने धागे को तोड़ दिया। फिर कुछ ही देर में पतंग और ऊपर जाने लगी। पुत्र के चेहरे पर खुशी दिखाई दी पर ये खुशी कुछ पल के लिए ही थी क्योंकि वह पतंग थोड़ी ऊपर जाने के बाद खुद ब खुद नीचे आने लगी और कही दूर जमीन पर आके गिर गयी।

happy kites-Motivational Story In Hindi

यह देख पिता ने बेटे को कहा “बेटे जिंदगी की जिस उचाई पर हम है वहा से हमे अक्सर लगता है कि कुछ चीजें जिस से हम बंधे हुये है वो हमें उचाईयों पर जाने से रोक रही है। जैसे कि हमारे माता, पिता, अनुसासन, हमारा परिवार आदि। इसलिए हम कई बार सोचते है कि शायद में इसी वजह से Sucess and Achievement नही हो रहा। मुझे इस से आजाद होना चाहिए।

More Motivational Story In Hindi Click here

जिस प्रकार से वह पतंग उस धागे से बंधी हुई रहती है उसी तरह से हम भी इन रिस्तो से बंधे हुये हैl वास्तव में यही वो धागा होता है जो पतंग को उचाईयों पर ले जाता है । हाँ जरूर तुम ये धागा तोड़ के यानी की अपने रिश्ते तोड़ के उचाईयों को छू सकते हो लेकिन उस पतंग की तरह ही कभी ना कभी कट कर नीचे गिर जाओगे।

पतंग तब तक उचाईयों को छूती रंहेंगी जब तक पतंग उस डोर से बंधी रंहेंगी। ठीक इसी तरह से हम जब तक इन रिश्तों से बंधे रंहेंगे तब तक हम उचाईयों को छूते रंहेंगे। क्योंकि हमारे जीवन मे सफलता रिश्तों के संतुलन से मिलती है।

Motivational Story In Hindi

दोस्तों इस कहानी से में बस आपको यही समझना चाहता हूँ कि हमारे माता पिता हमे आगे बढ़ने से बिल्कुल रोक नही रहे बस वो रोक टोक करके उस धागे को टूटने से बचाना चाहते है।क्योंकि वो जानते है कि आप इस धागे को तोड़ के उचाईयों को नही छू सकते।

दोस्तों आप को यह Motivational Story कैसी लगी हमें Comment कर के बताये More Motivational Story In Hindi Click here

About the author

Ideologypanda

Ideology Panda is one of The Most well-known websites on the web today have endless quantities of pages and is visited by a large number of people.

Add Comment

Click here to post a comment

PHP Code Snippets Powered By : XYZScripts.com