Indore Famous Place To Visit – Best Holiday Place in Indore

1 . राजवाड़ा

Indore Tourist Place : इंदौर की शान और इंदौर की जान राजवाड़ा इंदौर शहर का एक ऐतिहासिक महल है। इसे लगभग दो शताब्दी पहले मराठा साम्राज्य के होल्करों द्वारा बनाया गया था। यह सात मंजिला संरचना छत्रियों के पास स्थित है और आज शाही भव्यता और स्थापत्य कौशल का बेहतरीन उदाहरण है।  राजवाड़ा ( Rajwada ) कुल सात मंजिला महल है| नीचे की तीन मंजिले मार्बल की बनी थी| उपरी चार मंजिलों को सागौन की लकड़ी से बनवाया गया | राजवाड़ा ( Rajwada ) का प्रवेश द्वार हिंदू शैली के महलों की तर्ज पर बना है |
राजवाड़ा ( Rajwada )के ठीक सामने एक सुंदर सा बगीचा है, जिसके मध्य में महारानी देवी अहिल्याबाई होलकर की प्रतिमा स्थापित है

 2 . पिपलियापाला पार्क ( Regional Park Indore )

Regional Park प्रकृति प्रेमियों के लिए एक अच्छी जगह है। जिसे अटल बिहारी वाजपेयी क्षेत्रीय पार्क भी कहा जाता है, यह अद्भुत पार्क कांच की इमारत के साथ आपका स्वागत करता है | इसके सुंदर संगीतमय फव्वारे और हरे-भरे बाग आगंतुकों को आकर्षित करते हैं। यहा नौकायन सुविधाएं भी उपलब्ध हैं। इंदौर पर्यटन स्थल में यह पार्क काफी फैमस स्थान है। इंदौर भ्रमण पर आने वाले सैलानी यहा का दौरा करना पसंद करते है। आधुनिक पार्क बहुत बढ़िया पिकनिक स्पॉट भी है। पार्क में एक प्राचीन झील भी है, जहाँ आप अच्छी तरह से फुर्सत का समय बिता सकते हैं।

3 . लालबाग पैलेस

लाल बाग पैलेस निस्संदेह इंदौर में सबसे खूबसूरत महल है। इसमे विभिन्न अवधि से संबंधित शैलियों का मिश्रण है। इस खूबसूरत महल बनाने के लिए द्वार को इंग्लैंड के द्वार की तरह सजाया गया है और वे बकिंघम पैलेस के द्वार की प्रतिकृति हैं। इसके अंदरूनी हिस्से के प्रत्येक इंच में गुणवत्ता पूर्वक कलाकारी है। अतीत और वर्तमान के प्रागैतिहासिक कलाकृतियों, चित्रों और मूर्तियों को यहां देखा जा सकता है। इंदौर पर्यटन स्थल में लाल महल अपनी अलग ही पहचान रखता है | यहां की खासियत यह है कि इस महल में भारत का सबसे सुंदर गुलाबों का बगीचा भी है। महल का प्रवेश द्वार बेहद सुंदर हैए इसकी खास बात यह है कि यह दरवाजा इंग्लैंड के बर्घिगम पैलेस की तरह ही बनाया गया है। जिसे जहाज से समंदर के रास्ते से मुंबई लाया गया और वहा से सडक़ के रास्ते इंदौर लाया गया था। यह दरवाजा बीड धातु का बना है, पुरे देश में इस गेट की मरम्मत नहीं हो सकती अगर इसकी मरम्मत करवानी हो तो इसे इंग्लैंड ही ले जाना पड़ेगा। साथ ही इस महल के दरवाजो पर राजघराने की मुहर लगी है जिसका अर्थ है “जो प्रयास करता है वही सफल होता है ” बालरूम का लकड़ी का फ्लोर स्प्रिंग का बना है जो उछलता है, महल की रसोई से नदी का किनारा दिखता है, यहां रसोई से एक रास्ता भूमिगत सुरंग में भी खुलती है। यहां पर कारीगरी में बेल्जियम के कांच, पर्सियन कालीन, महंगे और खुबसूरत झाड़ फानूस और इटालियन संगमरमर का खुबसूरत प्रयोग किया गया है।

लाल बाग महल, इंदौर के सबसे शानदार महलों में से एक है। यह महल तीन मंजिला इमारात के तौर पर खान नदी के तट पर बड़ी ही शान से खड़ा है। इस महल को महाराजा शिवाजी राव होलकर ने बनवाया था। इस महल का इस्तेमाल होलकर शाही परिवार के द्वारा मेजबानी में किया जाता था।

Best Blogging Tips Click here

4 . चिड़ियाघर

 इंदौर चिड़ियाघर नवलखा या कमला नेहरू प्राणी संग्रहालय , इंदौर में स्थित एक प्राणी उद्यान है जो कि पूरी तरह से इंदौर नगर पालिका निगम के स्वामित्व वाली है। यह मध्य प्रदेश राज का सबसे बड़ा प्राणी उद्यान एवम् एक सबसे पुराना प्राणी उद्यानों मे से एक है। यह 4000 वर्ग मीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है।

कमला नेहरू प्राणी संग्रहालय भारत के कुल 180 मान्यता प्राप्त चिड़ियाघरों में से एक है। चिड़ियाघर मे दुनिया के विभिन्न भागों से विभिन्न प्रकार के जानवरों और पक्षियों जो लाया गया है। चिड़ियाघर के प्रयास करने के लिए नस्ल सफेद बाघ, रॉयल बंगाल टाइगर, हिमालयन भालू और सफेद मोर सफल किया गया है। इंदौर चिड़ियाघर  प्रजनन, संरक्षण और प्रदर्शनी के जानवरों, पौधों और उनके निवास के लिये एक केन्द्र है। चिड़ियाघर भी इंदौर की शान है

5 . 56 दुकान

इंदौर को चटोरो का शहर भी कहा जाता है | क्यों की आप खाने-पीने के शौकीन हैं, तो इंदौर चले आइए। यहां का क्लीन स्ट्रीट फूड हब इसके लिए बेहतरीन जगह है। देशभर में पहले नंबर पर सबसे स्वच्छ दुकानें और सबसे हेल्दी खाना इंदौर की 56 दुकानों पर मिल रहा है। भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआइ) ने इन दुकानों को ‘क्लीन स्ट्रीट फूड हब’ घोषित किया है। दुकानों के संचालक व कर्मचारियों को मेडिकल सर्टिफिकेट दिया गया है। इसके अंतर्गत उनके नाखून कटे हों व खाना दास्ताने पहनकर परोसा जाए। खाने में बाल न गिरे, इसलिए सिर पर कैप और कपड़े भी साफ पहनने पड़ते हैं। इन दुकानों पर फूड एंड सेफ्टी की गाइड लाइन का बोर्ड भी लगा हुआ है।

56 दुकानों की शुरुआत 1978 में हुई थी। नगर निगम ने इसे श्री मार्केट नाम दिया था। शुरुआत तीन दुकानों से हुई, धीरे-धीरे यहां भीड़ बढ़ी तो अन्य लोगों ने भी दुकानें खरीद लीं और सभी 56 दुकानें बुक हो गईं। इन दुकानों पर खाने को लेकर कई नए प्रयोग किए जाते, जब हॉट डॉग का लोग नाम भी नहीं जानते थे, तब लोग यहां खाने आते थे। एक पान दुकान संचालक दुबई से पान लाकर यहां बेचते थे। धीरे-धीरे चाट, साउथ इंडियन खाने की शुरुआत हुई। 1994 से इसे और भी प्राथमिकता मिली। नाम इतना बढ़ा कि जब भी कोई बड़ी हस्ती शहर में आती है, तो वह 56 दुकान जरूर आती है।

6 . इंदौर व्हाइट चर्च

इंदौर व्हाइट चर्च जो की माय हॉस्पिटल से कुछ मिंटो की दुरी पर है | इंदौर व्हाइट चर्च वर्ष 1858 में बनाया गया था और यह मध्य भारत में सबसे पुराना चर्च है। इसे पहले सेंट एन चर्च कहा जाता था। चर्च यूरोपीय वास्तुकला का एक अच्छा नमूना है। मन की शांति के लिए यहा के शांत और धार्मिक माहौल में एक अच्छा अनुभव किया जा सकता है। यह चर्च इंदौर पर्यटन स्थल में एक ऐतिहासिक इमारत है

Digital Marketing Courses

7 . गोमैगीरि

गोमैगीरि एक छोटी पहाड़ी पर जैन धर्म के अनुयायियों के लिए एक तीर्थ स्थल है। जो यहां स्थित 24 संगमरमर मंदिरों के लिए जाना जाता है। जैन धर्म के अनुयायी यहा प्रार्थना करने के लिए जाते हैं। यहा 21 फीट गोमेतेश्वर मूर्ति श्रवणबेलगोला में बहुबाली मूर्ति की एक प्रतिकृति है। यहा का शांत वातावरण आपको आनंद देता है। यहां से इंदौर शहर के सुंदर दृश्य काफी अच्छे दिखाई पडते हैं। यहा बच्चो को विमानो को उडान भरते हुए और उतरते हुए देखना बहु भाता है क्यो यहा पास ही में इंदौर अतंर्राट्रीय हवाई अड्डा है।

8 . कांच मंदिर

कांच मंदिर पूरी तरह से कांच से बाहर बनाया गया, यह जैन मंदिर जैन धर्म के विभिन्न पहलुओं को दर्शाते हुए ग्लास पैनलों पर उत्कृष्ट कलाकृति प्रदर्शित करता है। ग्लास पर जटिल विवरण कलाकारों की प्रतिभा और समर्पण को दर्शाता है। जो की राजवडा से थोड़ी दुरी पर है | इंदौर में कांच मंदिर की अपनी अलग ही अहमियत है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *